उत्तर प्रदेश निराश्रित, बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना 2020 – आवेदन

उत्तर प्रदेश निराश्रित, बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना

उत्तर प्रदेश निराश्रित, बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना 2020

हमारा आज का लेख हमारे राष्ट्रीय पशु अर्थात् हमारे गोवंश को समर्पित हैं क्योकि हम अपने इस लेख में आपको उत्तर प्रदेश निराश्रित, बेसहारा गोवंश सहभागित योजना 2020 ([Mukhyamantri Nirashrit Besahara Govansh Sahbhagita Yojana)  की पूरी जानकारी देंगे ताकि आप भी सरकार के इस कल्याणकारी योजना में भाग लेकर इस योजना का लाभ उठाते हुए हमारे गोवंश को समृद्ध औऱ सम्पन्न कर सकते हैं।

हम अपने इस लेख में आपको इस योजना के बारे में अर्थात् उत्तर प्रदेश निराश्रित, बेसहारा गोवंश सहभागित योजना 2020 की पूरी जानकारी, योजना के तहत चयन प्रक्रिया की जानकारी, योजना से प्राप्त होने वाले लाभ औऱ योजना के तहत जारी हेल्पलाइन नंबरो की पूरी जानकारी विस्तार से देंगे ताकि आप इस योजना का पूरा लाभ ले सकें और हमारे गोवंश की सुरक्षा भी हो सकें।

योजना की पूरी जानकारी

हम सभी जानते हैं कि, भारत की सड़को पर ही भारत का राष्ट्रीय पशु गंदगी और कूडे के ढेरो में खाना ढूंढता नजर आता हैं तो फिर भारत का क्या हाल होगा ?

उत्तर प्रदेश सरकार ने गोवंश की सुरक्षा और उसके संरक्षण के लिए एक योजना जारी कि हैं जो कि, उत्तर प्रदेश निराश्रित, बेसहारा गोवंश सहभागित योजना 2020 जिसके तहत हमारी सडको पर आवारा भटकती गायो को आसरा मिलेगा और उनकी पूरी सुरक्षा के साथ संरक्षण भी किया जायेगा।

इस योजना के तहत जो किसान 10 पशुओ को सहारा देता हैं तो उन्हें प्रतिदिन 300 रु का लाभ दिया जायेगा व हर महिने 9 हजार रुपयो की अतिरिक्त आय दी जायेगी। इस योजना के तहत 523 पंजीकृत गौशालओँ में संरक्षित गायो पर 365 दिनो तक 30 रु प्रति गोवंश के तौर पर लाभार्थी को दिया जायेगा।

अन्त, इस प्रकार  इस योजना के माध्मय से गायो का संरक्षण, सुरक्षा औऱ उत्थान तय किया जायेगा जिससे हमें कई लाभ भी मिलेंगे।

Read: राजस्थान अपना खाता नकल जमाबंदी ऑनलाइन देखें 

योजना को लाने का उद्धेश्य

इस योजना को लाने के कुछ बेहद मौलिक उद्धेश्य 2022 तक किसानो की आय दोगुनी करने का और दूसरे जरुरी लक्ष्य हैं जो कि, इस प्रकार हैं-

  1. गायो की सुरक्षा औऱ उनके संरक्षण को तय करना,
  2. पशुधन को बढावा देना,
  3. दूग्ध उत्पादन को बढावा देना,
  4. गायो को सड़क पर गंदनी खाने के बजाय उचित आहार प्रदान करना,
  5. गायो के रहन के लिए उचित व्यवस्था करना आदि।

योजना के तहत जारी की गई पात्रता सूची

इस योजना अर्थात् उत्तर प्रदेश निराश्रित, बेसहारा गोवंश सहभागित योजना 2020 के तहत लाभार्थियो के चयन के लिए तय प्रक्रिया को जारी कर दिया गया है जिसके तहत कुछ पात्रतायें हैं जिन्हें पूरा करना होगा जो कि, इस प्रकार हैं –

  1. आवेदनकर्ता उत्तर प्रदेश का मूल निवासी होना चाहिए और वर्तमान में भी वही पर रहता हो, ये बेहद जरुरी हैं,
  2. आवेदनकर्ता के पास पशुपालन का अनुभव होना चाहिए ताकि वे इस योजना के तहत गोवंश की सही तौर पर देखभाल कर सकें औऱ योजना का लाभ उठा सकें,
  3. आवेदनकर्ता का बैंक खाता होना चाहिए और वो उसके आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए आदि।

उपरोक्त पात्रताओं को पूरा करने के बाद आप इस योजना का लाभ ले सकते हैं।

योजना के तहत तय की गई दस्तावेजो की सूची

इस योजना के तहत जिन दस्तावेजो की सूची जारी की गई हैं वे इस प्रकार हैं –

  1. आवेदनकर्ता के पास आधार कार्ड होना चाहिए,
  2. आवेदनकर्ता के पास पहचान पत्र व राशन कार्ड होना चाहिए,
  3. आवेदनकर्ता के पास किसान कार्ड या डेयरी कार्ड होना चाहिए,
  4. आवेदनकर्ता के पास बैंक के सभी दस्तावेजे होने चाहिए,
  5. आवेदनकर्ता के पास ताजा तस्वीर और मोबाइल नंबर होना चाहिए आदि।

उपरोक्त दस्तवेजो की पूर्ति के बाद ही आप इस योजना में आवेदन कर पायेंगे औऱ इसका लाभ ले पायेंगे।

Read: फ्री सिलाई मशीन योजना 2020

योजना से होने वाले लाभो की रुपरेखा

इस योजना के तहत प्राप्त होने वाले लाभो की रुपरेखा इस प्रकार है-

  1. इस योजना के तहत लाभार्थियो के खातो में 30 रु प्रतिदिन गोवंश के हिसाब से उनके खातो में सीधा जमा किया जायेगा,
  2. भ्रष्टाचार या घूसखोरी पर लगाम लगाने के लिए पशुओ की ईयर टैंगिग की जायेगी,
  3. इस योजना से सडको पर आवारा भटकते पशुओ की संख्या में कमी आयेगी और सड़क पर होने वाली दुर्धटना में भी कमी आयेगी,
  4. हमारी गायो के होने वाले अपमान पर रोक लगेगी,ट
  5. हमारी गायो का संरक्षण होगा और इससे दूग्ध उत्पादन में भी जबरदस्त वृद्धि होगी आदि।

योजना के तहत इन्हें मिलेगा प्राथमिकता

इस योजना के तहत जिन लोगो को खास प्राथमिकता दी जायेगी उनकी सूची इस प्रकार हैं-

  1. दूध आपूर्ति या समिति से जुडे लोगो को प्राथमिकता दी जायेगी,
  2. पशुमित्र औऱ प्राइवेट प्रशिक्षित लोगो को प्राथमिकता दी जायेगी आदि।

इस तरह से करना होगा आवेदन

इस योजना में आवेदन करने के लिए औऱ इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदनकर्ता को अपने खंड या ब्लॉक अधिकारी से फॉर्म लेना होगा, फॉर्म को सावधानी से भरना होगा, सभी दस्तावेजो की एक प्रति संलग्न करनी होगी और तत्पश्चात् उसी विकासी को जमा करानी होगी इसके बाद आप इस योजना में सरलता से आवेदन कर पायेंगे।

योजना के तहत जारी हेल्पलाइन नंबर

इस योजना के तहत जारी किये गये हेल्पलाइन नंबरो की सूची इस प्रकार हैं-

  • योजना के तहत जारी किया गया नि-शुल्क नंबर हैं – 1800 180 5141,
  • पूरा पता- ऐनिमल हसबंडरी डिपार्टमेंट लखनऊ, उत्तर प्रदेश
  • सम्पर्क करने के लिए ई-मेल आई.डी – ahrazqidwai@yahoo.com
  • vks56@yahoo.com आदि।

उपरोक्त सम्पर्क नंबरो पर सम्पर्क करके आप इस योजना की पूरी जानकारी और यदि समस्या  हैं तो इसका समाधान पा सकते हैं।

FAQs

योजना से जुडे आपके जो सवाल हमें मिले हैं उनका जबाव हमने इस प्रकार दिया हैं जो कि, इस प्रकार हैं –

Q:  योजना में किस पशु का संरक्षण किया जायेगा?

Ans: योजना में गाय के सुरक्षा और सरंक्षण का प्रावधान है।

Q:  योजना का लाभ किसे मिलेगा ?

Ans:  योजना का लाभ योजना के अनुसार गोवंशो का संरक्षण करने वालो औऱ उन्हें सुरक्षित रख कर उनका ध्यान रखने वाले किसानो को दिया जायेगा।

Q:   योजना का लाभ सभी राज्यो के किसानो को मिलेगा ?

Ans:  नहीं। योजना का लाभ केवल उत्तर प्रदेश के किसानो को मिलेगा।

Q:   योजना के तहत कितने रुपय प्रतिदिन मिंलेंगं?

Ans:   योजना के तहत प्रति गोवंश के हिसाब से 30 रु मिलेगें।

Q:    पैसे कहां से मिलेंगे ?

Ans:   योजना के तहत पैसे सीधे आपके खाते में जमा किये जायेंगे।

Q:   10 पशुओं को सहारा देने पर कितना लाभ मिलेगा ?

Ans:   जो किसान 10 पशुओ को सहारा देना औऱ सुरक्षा व संरक्षण प्रदान करेगा उन्हें 300 रु प्रतिदिन के हिसाब से लाभ दिया जायेगा।

Q:   योजना के लिए कहां पर आवेदन करना होगा?

Ans:   योजना के लिए अपने खंड या फिर ब्लॉक अधिकारी के पास ही आवेदन करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *