आत्मनिर्भर भारत अभियान: Atma Nirbhar Yojana Online Form, Registration

Atam Nirbhar Bharat Yojana

आत्मनिर्भर भारत अभियान

aatm nirbhar bharat yojana in hindi | aatm/aatma/aatam nirbhar abhiyan online form/registration/pdf apply online | PM aatm nirbhar bharat yojana kya hai | आत्मनिर्भर योजना भारत अभियान पीडीऍफ़  | Pradhan Mantri atma nirbhar bharat abhiyan package details in hindi  | atma nirbhar yojana loan |atma nirbhar bharat abhiyan pdf

हम अपने सभी पाठको को ये बताना चाहते हैं कि, कोरोना महामारी अर्थात् कोविड-19 के लगातार बढ़ते प्रकोप को देखते हुए, ’’आत्मनिर्भर योजना भारत अभियान ’’ का शुभारम्भ कर दिया गया हैं और हम अपने इस लेख में आपको इसी अभियान की जानकारी देने वाले हैं।

हम अपने इस लेख में आपको इस अभियान से संबंधित हर जानकारी, इसके हर पहलू और हर महत्वपूर्ण बिंदु से आपको वाकिफ करवायेगे ताकि आप सरलतापूर्वक इस अभियान में अपना सफल और सार्थक पंजीकरण करवा सकें।

Atam (Aatam) Nirbhar Yojana

आत्मनिर्भर भारत अभियान (Aatma Nirbhar Yojana Bharat Abhiyan)- ऑनलाइन आवेदन लाभ व पात्रता साथ ही हम आपको ये भी बतायेगे कि, आप किस तरह से इस अभियान में अपना पंजीकरण कर सकते हैं और इसके लिए आपको किन-किन चरणो को, पात्रताओं को पूरा करना होगा इसकी पूरी जानकारी हम आपको अपने इस लेख मे चरणबद्ध तरीके से बतायेगे और साथ ही हम आपको इसके लाभो की भी पूरी रुपरेखा प्रदान करेगे ताकि आप इस योजना का पूरा लाभ ले सकें।

योजना का नाम आत्मनिर्भर भारत अभियान
किसके द्वारा आरंभ की गई प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी
योजना का प्रकार केंद्र सरकार
लाभार्थी देश का प्रत्येक नागरिक
उद्देश्य समृद्ध और संपन्न भारत निर्माण
आरंभ की तिथि 12 मई 2020
पैकेज की धनराशि 20 लाख करोड़ रुपए
ऑफिशियल वेबसाइट https://www.pmindia.gov.in/en/

आत्मनिर्भर भारत अभियान योजना- एक नजर

सबसे पहले हम आपको सूचित करना चाहते हैं कि, भारत सरकार द्धारा आपको कोरोना महामारी के प्रकोप से बचाने के लिए एक बड़ा कदम मोदी सरकार द्धारा ले लिया गया हैं और इस कदम का नाम हैं, ’’ आत्मनिर्भर भारत अभियान ’’।

अगर हम बात करें इस योजना के आंकड़ो की तो वो कुछ इस प्रकार हैं-

  1. 130 करोंड़ लोगो का मिलेगा लाभ,
  2. 20 लाख करोड़ रुपयो की दी जायेगी आर्थिक मदद,
  3. सीधे खातो में भेजे जायेगे रुपये आदि।

इस प्रकार कोरोना संकट के इस समय में भारत सरकार ने अपने नागरिको का हाथ और साथ दोनो बनाये रखा हैं ताकि हम सब इसका सामना बहादुरी से कर सकें।

Read: UP MSME Loan Mela 2020 Online Registration 

आपदा को बनाया अवसर

भारत के प्रधानमंत्री श्री. नरेन्द्र मोदी जी ने कोरोना महामारी के लगातार फैलते प्रकोप को देखते हुए इस व्यापक आपदा को व्यापक अवसर में बदल दिया हैं ताकि हर भारतवासी इस संकट की घड़ी में मजबूती के साथ कोरोना से लड़ सके।

12 मई,2020 को जब मोदी जी ने राष्ट्र के नाम अपने संदेश मे, मोदी जी ने ’’ राहत पैकेज ’’ की सबसे बड़ी सौगात का ऐलान करते हुए उन्होंने “आत्मनिर्भर भारत अभियान ’’ की घोषणा की थी जिसके तहत लगभग 20  लाख करोड़े रुपयों की आर्थिक मदद दी जायेगी ताकि इस आपदा को अवसर में बदलकर हर भारतवासी इस महामारी से लड़े सकें।

आत्मनिर्भर भारत से आत्मनिर्भर अर्थव्यवस्था का मंत्र

हम सभी जानते हैं कि, कोरोना वायरस की वजह से पूरे विश्व  की अर्थव्यवस्था की कमर बुरी तरह से टुट चुकी हैं और भारत भी इससे अछूता नहीं हैं पर ऐसा नहीं हैं कि, हम पूरी तरह से टूट गये हैं बल्कि हम अभी भी टिके हुए हैं और इस समस्या का सामना कर रहे हैं। मोदी जी द्धारा भारतीय उघोग परिसंध की सालाना बैठक में, ना सिर्फ भारत को ही आत्मनिर्भर बनाने की बात की गई हैं बल्कि भारतीय अर्थव्यवस्था को भी आत्मनिर्भर बनाने का मंत्र मोदी जी के द्धारा ’’ आत्मनिर्भर भारत अभियान ’’ योजना के माध्यम से दिया गया हैं ताकि हमारी अर्थव्यस्था पहले की ही तरह बनी रहे और सुचारु चलती रहे इसके लिए मोदी ने दिये ’’ 5 E ’’ मंत्र अर्थात् पंचमंत्र, जो कि, इस प्रकार हैं-

  1. इन्टेंशन अर्थात् कार्य करने की मंशा और सफलता पाने का इरादा और जज्बा,
  2. इन्क्लूजन अर्थात् सभी बिदुंओं का एक सुव्यवस्थित मिश्रण और समावेशन,
  3. इन्वेसटमेंट अर्थात् लागत, जिस दर पर कार्य को पूरा किया जायेगा,
  4. इन्फ्रास्ट्रक्चर अर्थात् जिस बुनियाद पर पूरे ढाचे की नींव रखी जानी हैं,
  5. इनोवेशन अर्थात् आविष्कार ताकि आविष्कार से आत्मनिर्भता को प्राप्त किया जा सकें।

उपरोक्त पंचमंत्रो के पालन द्धारा हम सरलतापूर्वक इस अभियान को सफल बना सकते हैं।

Read: PMAY Gramin List  2020-21

इन्हें मिलेगा इस योजना का सीधा लाभ

हम अपने पाठको को बताना चाहते हैं कि, इस योजना का लाभ जिन-जिन लोगो को मिलेगा उनकी पूरी सूची इस प्रकार हैं-

  • भारत का किसान औऱ गरीब नागरिक,
  • संगठित औऱ असंगठित क्षेत्रो में कार्यरत व्यक्ति,
  • कुटिर औऱ लधु उद्योग के कर्मचारीगण,
  • काश्तकार, मछुआरे और पशुपालक,
  • श्रमिक, प्रवासी श्रमिक औऱ मध्यवर्गीय मजदूर आदि।

उपरोक्त सूची में वर्णित लोगो को इस योजना का सीधा लाभ मिलेगा।

योजना से होने वाले मूलभूत सुधारो की रुपरेखा

इस योजना के सफल क्रियान्वयन से जो मूलभूत सुधार देखने को मिलेगे वो कुछ इस प्रकार से हैं-

  • कृषि प्रणाली में होगा सुधार,
  • सरल और स्पष्ट नियमों का होगा क्रियान्वयन,
  • सर्वोच्च आधरिक संरचना का होगा निर्माँण,
  • मेक इन इंडिया को मिलेगा प्रोत्साहन,

मेक इन इंडिया

  • निवेश को मिलेगा नया मुकाम व
  • नये रोजगारो की होगी उत्पत्ति आदि।

उपरोक्त मूलभूत सुधार इस योजना के सफल क्रियान्वयन से हमें प्राप्त होगें।

योजना से होने वाले लाभो का ब्लू-प्रिंट

हम अपने सभी पाठको को इस योजना से होने वाले लाभो की ब्लू-प्रिंट से परिचित करवाना चाहते हैं कि, जो कि, इस प्रकार हैं-

  • प्रत्यक्ष लाभ के तहत 10 करोड़ मजदूरो को मिलेगा सीधा लाभ,
  • एंम.एस.एम.ई से जुड़े 11 लाख कर्मचारियो को लाभ,
  • उद्योगो से जुडे 3.8 करोड कर्मचारियों को लाभ मिलेगा,
  • वस्त्र उद्योग से जुडे 4.5 करोड़ कर्मचारियो को लाभ आदि।

उपरोक्त बिंदुओं के माध्यम से हमने अपने पाठको के सामने इस योजना के लाभो का एक ब्लू-प्रिंट प्रदान करने के कोशिश की हैं ताकि वे इस योजना को बेहतर ढंग से समझ सकें।

स्वनीधि योजना का हुआ ऐलान- नई जानकारी

मोदी जी ने कोरोना वायरस के चलते सबसे अधिक पीडित वर्ग अर्थात् सड़को औऱ पटरियों पर अपना काम करने वाले जैसे कि, मोची, पानवाले, नाई और फास्ट फूड का काम करने वाले को इसकी गिरफ्त में आने से बचाने के लिए मोदी जी ने ’’ स्वनीधि योजना’’ का घोषणा कर दी हैं जिसके तहत इन्हें 10,000 रुपयों का कर्ज मुहैया करवाया जायेगा जिससे हमारे ये वर्ग इस लोन की सहायता से अपने-अपने रोजगार को फिर से खड़ा कर सकें और कोरोना से बिगड़ चुकी अपनी और अपने परिवार की स्थिति को सुधार सकें। इस योजना से संबंधित कुछ अन्य नई जानकारी इस प्रकार हैं-

  • केंद्र सरकार ने 6 करोड 28 हजार उज्जवला गैसे सिलेंडरो का किया आवंटन,
  • 8,432 करोड़ की राशि सीधी हितधारको के खातो में जमा करवाई गई आदि।

उपरोक्त जानकारी के आधार पर हर कह सकते हैं कि, इस योजना के भारतवासियों को काफी लाभ मिलेगा।

घोषणा से मिला गरीबो और किसानो की साधी लाभ

हम अपने सभी पाठको को बताना चाहते हैं कि, मोदी जी द्धारा शुरु किये गये,’’ आत्मनिर्भर भारत अभियान ’’ के तहत कुछ घोषणायें की गई हैं जिनका सीधा लाभ हमारे देश के गरीबो और किसानों को मिलेगा उसकी एक संक्षिप्त सूची इस प्रकार हैं-

  • किसानो और गरीबो को साधी आर्थिक लाभ,
  • प्रवासी गरीबो और शहरी मजदूरो को लाभ देने का वायदा,
  • प्रवासियों को राहत पहुंचाने के लिए मनरेगा ने सम्हाली पहल,
  • तमाम प्रवासी मजदूरो को 2 माह की मुफ्त राशन और भोजन प्रदान किया जायेगा,
  • प्रवासी मजदूरो की रहने की समस्या के समाधाने के लिए सस्ती दरो पर आवासो को किया जायेगा प्रदान,
  • मुद्रा शिशु कर्ज के तहत 1500 करोड़ रुपयो की कि, जायेगी मदद,
  • सड़क पर काम करने वाले विक्रेताओं को 5000 रुपयो की खास क्रेडिट सुविधा दी जायेगी,
  • 6000 करोड़ रोजगारो को पैदा करने के लिए कैम्पा फंड का किया गया उपयोग,
  • नाबार्ड द्धारा 30,000 करोड रुपयो की आपातकालीन पूंजीगत निधी का भुगतान,
  • किसान कोरोना को हराये इसके लिए सरकार ने किसान क्रेडिट कार्ड के द्धारा दे रही हैं 2 लाख रुपयो का कर्ज आदि।

उपरोक्त लाभो की घोषणा गरीबो और किसानो का सीधा लाभ पहुंचाने के लिये किया गया हैं।

एम.एस.एम.ई को समर्पित 16 घोषणायें

एम.एस.एम.ई को केंद्र सरकार द्धारा समर्पित इन 16 घोषणाओँ की पूरी सूची इस प्रकार हैं-

  • व्यापार के लिए 3 लाख रुपयो का नि-शुल्क कर्ज,
  • व्यापार के लिए 20,000 करोड रुपयो का अधीनस्थ कर्ज,
  • 50,000 करोड़ रुपय का इक्विटि इन्फ्यूशन,
  • ग्लोबल टेंडर को 200 करोड़ रुपयो तक लाया जायेगा व अन्य कई और जरुरी कार्य किये जायेगे।

उपरोक्त बिंदुओं की सहायता से हमने ये केंद्र सरकार द्धारा जारी उन 16 घोषणाओं का वर्णन करने का प्रयास किया जो कि, एम.एस.एम.ई को समर्पित हैं।

किसान भाईयो को मिली 11 घोषणाओं की सौगात

इस योजना के तहत हमारे किसान भाईयो को 11 घोषणाओं की सौगात दि गई हैं जिससे उनकी आय में दुगुना मुनाफा होगा। इन 11 घोषणाओँ की पूरी सूची इस प्रकार हैं-

  • 11 लाख करोड़ रुपयो की मदद से होगी कृषि संरचना का निर्माण,
  • 10,000 करोड रुपयो की मदद से किया जायेगा सूक्ष्म खाद्य उद्योगो का औपचारीकिकरण,
  • पी.एम मातृ सम्पदा योजना के तहत 2000 करोड़ रुपयो का किया जायेगा आवंटन,
  • 15,000 करोड़ रुपयो की लागत से तैयार सेटअप से पशुपालन की नींव को किया जायेगा मजबूत,
  • 4000 करोड़ रुपयो की मदद से केंद्र सरकार करेगी जैविक खेती का विकास और प्रोत्साहन,
  • 500 करोड रुपयो की एक अलग व्यवस्था की गई हैं हमारे मधुमक्खी पालन करने वाले भाईय़ों के लिए,
  • 500 करोड़ रुपयो से किया जायेगा ’’ ओपरेशन ग्रीन ” का विस्तार जिसके तहत ताजा फलो और सब्जियों को बर्बाद होने से बचाया जायेगा,
  • खाद्य पदार्थो से संबंधित हर जरुरी संशोधन पर गौर किया जायेगा,
  • कृषि पैदावार को बढ़ाने के लिए सस्ती दरो पर मुहैया कराये जायेगा कृषि उपकरण,
  • कृषि विपणन में हर जरुरी सुधार किये जायेगे आदि।

अन्त, हमने अपने सभी पाठको को मोदी जी द्धारा शुरु किये गये ’’ आत्मनिर्भर भारत अभियान ’’ से संबंधित हर जानकारी प्रदान की हैं ताकि वे इस योजना के प्रति पूरी तरह से जागरुक रहे और इस योजना का पूरा-पूरा लाभ ले सकें

इसे भी पढ़े..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *